अपने विभाग के विकास के लिए हम क्या करें ? कक्षा में शिक्षण वातावरण कैसे बनाए ?

 प्रश्न 1) एक शिक्षक होने के नाते अपने विभाग के विकास के लिए अपना दृष्टिकोण प्रस्तुत करे? 

उत्तर ) शिक्षण विभाग में तकनीकी वृद्धि होना अत्यंत आवश्यक है। बदलते समय और सामाज के अनुसार शिक्षक छात्रों को सामयिक बनाना ( अपडेट ) चाहिए ।  शिक्षक को विभिन्न तरह के पाठयोजनाएँ तैयार करनी होगी चाहे विषयवस्तु भाषा से संबंधित हो या विज्ञान से संबंधित ।  छात्रों की रूचि - अभिरुचि को ध्यान में रखते हुए विषय वस्तु को वर्तमान जीवनशैली से जोड़कर पढ़ाना चाहिए । 

 

 विदेशों की तरह कक्षा में स्मार्ट बोर्ड , स्पीकर रखना विभाग का विकास नहीं कहलाता । 

" एक अच्छे शिक्षक के लिए शयामपट्ट ही काफ़ी है।"  

विभाग के विकास के लिए शिक्षक शिक्षण करते समय " जात - पात को भूलकर मानव समाज के कल्याण का उद्देश्य से दृष्टिकोण प्रस्तुत करनी चाहिए । 


  • पाठ्यक्रम में राष्ट्रवाद को स्थान देना चाहिये ।
  • पाठयक्रम के साथ - साथ सांस्कृतिक कलाएँ / कार्यक्रम और खेल - कूद पर भी नज़र रखनी होगी । 
  • विभाग के विकास के लिए मातृभाषा , राष्ट्रभाषा , राजभाषा और अंतरराष्ट्रीय भाषाओं को स्थान देना ज़रूरी हैं।




प्रश्न 2) आप शिक्षण वातावरण कैसे बनाएंगे ?


उत्तर ) कक्षा में शिक्षण वातावरण बनाने के लिए पाठ की प्रस्तावना रुचिकर होनी चाहिए :- जैसे 

  • गीत गाकर पाठ शुरू करें ।
  • चित्र बनाकर / दिखाकर बच्चों का दृष्टिकोण आकर्षित कर सकते हैं ।
  • विभिन्न तरह की तालियाँ बजाकर सकारात्मक शिक्षण वातावरण बना सकते हैं ।
  • कहानी से पाठ की शुरूआत करें ।
  • विषय ( सबजेक्ट ) / भाषा का महत्व भविष्य में स्थान के अनुसार विभिन्न विषयों का महत्व अपनी जीवनशैली / रोज़गार पर आज के पाठ का प्रभाव समझाएँ ।
  • अपनी विषय को परिवार / समाज / विज्ञान / सामाजिक अध्ययन / अन्य भाषा से जोड़कर समझाने से हमेशा के लिए शिक्षण वातावरण बने रहेगा । 

कृपया अपनी कोई राय / सुझाव है , तो कामेंट में लिखिए |

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

A five day online Training cum Workshop on Testing and Evaluation in Hindi

A Good Opportunity to Study PG in the Top Central Universities, India | Benefits | Important Dates | Syllabus | Question Paper Pattern | Entrance Exam CUET 2022-2023 Fee |

AP TET DSC Psychology Bit Bank 45